पुर्णिया:इलाज के लिए पैसा निकालने तीन दिन से चक्कर काट रही थी महिला, चौथे दिन बैंक के बाहर हो गई मौत

रूपौली(बिहार). इलाज के लिए बैंक से पैसे निकालने गई बीमार महिला की पैसे नहीं मिलने के कारण मौत हो गई। रूपौली के मैनी संथाल टोले की रहने वाली नूरजहां खातून पिछले चार दिनों से बैंक से पैसे निकालने जा रही थी। गुरुवार को वह बैंक के बाहर ऑटो में अपनी बारी का इंतजार कर रही थी। डेढ़ घंटे इंतजार के बाद महिला का दम टूट गया।

– नूरजहां की बहू बीबी रौशन ने बताया कि उनकी सास पिछले कुछ दिनों से बीमार थी। वह चार दिनों से सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया,रूपौली के चक्कर लगा रही थी, लेकिन बैंक में पैसा नहीं होने की बात कहकर लौटा दिया जाता था। गुरुवार सुबह सास को 10:30 बजे ऑटो से बैंक लाया गया। उन्हें इलाज के लिए पूर्णिया ले जाना था।

– नूरजहां के बेटे लाल मोहम्मद ने गुरुवार को 17,000 रुपए देने का आग्रह किया, लेकिन कैशियर कृष्ण मुरारी सिन्हा ने राशि की कमी बताते हुए 5000 रुपए देने की बात कही। लाल मोहम्मद ने कम पैसे लेने से इनकार कर दिया। इसी दौरान बाहर नूरजहां की हालत बिगड़ गई।

– इस बाबत सहायक शाखा प्रबंधक सुधांशु शेखर साहा ने बताया कि नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत से ही नोटों की आपूर्ति कम हो रही है। स्थानीय खाताधारकों की जमा राशि से ही लेन-देन हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *